Black Fungus : महामारी में एक और महामारी, राजस्थान सरकार ने इस बीमारी को घोषित किया महामारी

Share It

कोरोना महामारी से हम सब तकरीबन डेढ़ साल से जूझ रहे हैं। भारत में अभी कोरोना के दूसरे वेव ने तबाही मचाई हुई है। मौत का आंकड़ा लाखों की संख्या पार कर रहा है। इसी बीच एक नई बीमारी ने पनपना शुरू कर दिया है। इस बीमारी का नाम है Mucormycosis जिसे हम आम भाषा में ब्लैक फंगस के नाम से भी जानते हैं।

इस इंफेक्शन के बढ़ते मामले और इस से हो रही मृत्यु को देखते हुए राजस्थान सरकार ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। बीते दिनों कोरोना से संक्रमित या उबर चुके मरीजों में इसके कई मामले देखे गए हैं। इस बीमारी में मृत्यु दर काफी अधिक (50 प्रतिसत से 70 प्रतिसत तक) है। इस इंफेक्शन के फैलने की तेज गति इसे और खतरनाक बनाती है।

दुर्लभ थी यह जानलेवा बीमारी

बता दें, पिछले कुछ दिनों में अलग-अलग राज्यों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन के कई मामले देखे गए हैं। डॉक्टरों के अनुसार कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने वाले स्ट्रोइड बेस्ड ड्रग के अत्यधिक या बिना जरूरत के हुए इस्तेमाल से ये इंफेक्शन तेज़ी से फैल रहा है। हालांकि ब्लैक फंगल इंफेक्शन कोई रहस्यमय इंफेक्शन नहीं है पर यह एक दुर्लभ इंफेक्शन है। डॉक्टरों का कहना है कि व्यस्त अस्पतालों में भी 3-4 सालों में इसके इक्का-दुक्का मरीज ही देखे जाते हैं।

संभव है ब्लैक फंगल का इलाज

इस इंफेक्शन का इलाज संभव है पर यह इस बात पर निर्भर है कि इंफेक्शन किस स्टेज पर पहुँचा है। अगर इंफेक्शन का जल्दी पता चल जाये तो मरीज के बचने की संभावना बढ़ जाती है। यह इंफेक्शन किसी की जान कुछ दिनों या कुछ घंटों में ले सकता है। डॉक्टरों का कहना है कि जिस अंग में यह इंफेक्शन लगा हो उस पर भी इसका इलाज निर्भर करता है। बहुत से मामलों में बड़ा ऑपरेशन कर के घाव को ठीक किया जाता है।