Monsoon Update:बिहार में इस साल भी समय से पहले पहुंचेगा मानसून, आज 14 जिलों में बारिश का अलर्ट

Share It

PATNA : देश में पड़ रही भीषण गर्मी से जल्द ही लोगों को राहत मिलेगी. इस बार समय से पहले मानसून (Monsoon) दस्तक दे सकता है. आसपास के राज्‍यों में इस बार मानसून से पहले की बारिश ने भी खुश किया है. अब जो हालात बन रहे हैं, उससे पता चलता है कि मानसून भी बहुत जल्‍द दस्‍तक देने वाला है. Bihar Weather Update…

मौसम विज्ञान विभाग नई दिल्ली से सूचना के आधार पर ज्ञात होता है कि इस वर्ष देश में इस साल दक्षिण पश्चिमी मानसून समय से पहले आ सकता है. मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, केरल तट पर मानसून इस बार 27 मई को दस्तक दे सकता है.

इससे पहले इसके अंडमान सागर में समय से पूर्व प्रवेश के आसार हैं. मौसम विज्ञानी के अनुसार, समय से पहले मानसून आने की अनुकूल परिस्थितियां बनने और केरल की ओर बढऩे के संकेत मिल रहे हैं. ऐसे में बिहार में मानसून आने की बात करें तो दूसरे वर्ष भी समय के पहले मानसून दस्तक दे सकता है.

पूर्वानुमान के आधार पर कहा जा रहा है कि अंडमान में मानसून के प्रवेश के बाद स्थिति अनुकूल रहीं तो आठ से 10 जून के बीच मानसून बिहार में प्रवेश करेगा. 2021 की बात करें तो मानसून समय से पहले दस्तक दिया था. 2019 में बिहार में मानसून आने की तिथि 12 जून था. वहीं, बीते साल की बात करें तो मानसून 11 जून को समय से पहले दस्तक दिया था. मानसून की पहली बारिश पूर्णिया में 13 जून को हुई थी.

बिहार के लिए मौसम विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश के उत्तर पूर्व इलाकों में जहां पुरवा का प्रवाह हो रहा है तो दक्षिण बिहार में पुरवा की जगह दक्षिण पश्चिम हवा ने अपना डेरा जमा रखा है.

दक्षिण बिहार के कई शहरों में पछुआ के प्रभाव से अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास और उससे ऊपर चला गया है. हवा के रुख में हो रहे बदलाव का असर मौसम पर पड़ा है. प्रदेश के एक हिस्सों में जहां गरज के साथ बारिश होने का पूर्वानुमान है तो वहीं दूसरी ओर तेज धूप के कारण पारे में आंशिक वृद्धि का पूर्वानुमान बताया गया है.

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार, रविवार तक प्रदेश के 14 जिलों पूर्वी एवं पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, कैमूर, रोहतास, बक्सर और औरंगाबाद में गरज के साथ बारिश का पूर्वानुमान को लेकर येलो-अलर्ट जारी किया गया है. वहीं पटना और इसके आसपास क्षेत्रों में मौसम सामान्य रहने के साथ पारे में वृद्धि के आसार हैं.