Patna IIT ने तैयार किया India का पहला बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम, एक बार चार्ज करने में एक सप्ताह चलेगा इन्वर्टर

Share It

PATNA : बिहार टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में लगातार कामयाबी के झंडे गाड़ रहा है. पहले ड्रोन का निर्माण और अब बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम के साथ लिथियम आयन बैटरी से चालित कम वजन का इन्वर्टर का निर्माण किया गया. इस बार कामयाबी हासिल की है आईआईटी पटना के छात्रों ने.

इनोवेशन और आउट ऑफ बॉक्स आइडियाज के लिए पहचान बना चुकी आईआईटी पटना में भारत में निर्मित बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम ( BMS ) लॉंच किया गया और इसके साथ ही लिथियम आयन बैटरी से चालित कम वजन का इन्वर्टर भी लांच हुआ. ये इनवर्ट एक बार चार्ज करने पर एक सप्ताह तक काम कर सकता है. इसे बनाने वाले छात्रों का कहना है कि ये माइनस 15 से 20 डिग्री के तापमान पर भी अच्छी सर्विस दे सकता है.

बता दें कि इस इन्वर्टर को केंद्रीय मंत्री आर के सिंह, बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन और बिहार के भवन निर्माण अशोक चौधरी ने लांच किया. साथ ही उन्होंने आईआईटी पटना में इनोवेटिव प्रोडक्ट्स की लांचिंग के साथ 3 दिवसीय प्रोमोशन ऑफ रिसर्च इन्फ्रास्ट्रक्चर इन साइंस एंड टेक्नोलॉजी कार्य़शाला का भी शुभारंभ किया.

इस मौके पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से आगे बढ़ रहा है. साइंस एंड टेक्नोलॉजी और इससे जुड़े आधारभूत संरचना के विकास में भी केंद्र सरकार ने बड़े काम किये हैं. उन्होंने कहा कि विकसित देशों की तुलना में भारत ने रिसर्च और इनोवेशन में आशातीत प्रगति की है. विकसित देश रिसर्च और इनोवेशन की अहमियत समझते हैं.

इसके अलावा बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि ये खुशी की बात है कि आईआईटी पटना में विकसित और निर्मित देश की पहली बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम (BMS) और लिथियन आयन बैटरी चालित कम वजन का इन्वर्टर मेड इन बिहार प्रोडक्ट भी है.

साथ ही शहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार को लेकर धारणा बदलने के लिए हर किसी को प्रयास करने की जरुरत है. बिहार न सिर्फ इनोवेटिव प्रोडक्ट्स और स्टार्टअप्स में आगे बढ़ रहा है बल्कि राज्य के समग्र औद्योगिक विकास को एक साथ लेकर चल रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिद्दत से राज्य को विकास के इस मुकाम तक पहुंचाया है, जहां अब राज्य को तेजी से आगे ले जाने के लिए सभी आधारभूत संरचनाएं मौजूद हैं.

बिहार के भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अथक प्रयासों से यहां एक से एक प्रतिष्ठित संस्थान खुल चुके हैं और राज्य अब तेजी से आगे बढ़ रहा है. इस मौके पर आईआईटी पटना के निदेशक प्रो. टी एन. सिंह, तकनीकी विकास बोर्ड, नई दिल्ली के सचिव राजेश कुमार पाठक और आईआईएम बोधगया, आईआईआईटी भागलपुर, एनआईटी पटना के निदेशक भी मौजूद रहे.