Bihar के दूसरे तारामंडल का निर्माण दो महीने में होगा पूरा, यहां देखिए तस्वीरें

Share It

DARBHANGA : बिहार (Bihar) का दूसरा तारामंडल दरभंगा में निर्माणाधीन है जानकारी, हो कि इस परियोजना का 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है. बिहार सरकार 164 करोड़ की लागत से तारामंडल की निर्माण करवा रही है. इंजीनियरों की मानें तो 31 मई तक दर्शकों के लिए खोल दिया जाएगा. तारामंडल के निर्माण हो जाने से मिथिला क्षेत्र के दरभंगा में पर्यटन को बढ़ावा मिल सकेगा. छात्रों के अध्ययन करने के लिए भी तारामंडल सहायक सिध्द होगा वहीं रोजगार को भी बढ़ावा मिल सकेगा. बता दें कि दरभंगा पॉलेटेक्निक कॉलेज के 3.5 एकड़ जमीन पर तारामंडल का निर्माण हो रहा है.

तारामंडल का निर्माण 12 दिसंबर 2019 को प्रारंभ हुआ था जिसे जून 2021 में पूरा होना था. लेकिन कोरोना के कारण इसके निर्माण में छ: महीने का विलंब हो गया है. जानकारी हो कि बिहार सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से 164 करोड़ की लागत से दो फेज में तारामंडल का निर्माण पूरा होना है जिसमें से 73 करोड़ 73 लाख 60 हजार 331 रुपये की लागत से पहले फेज में तारामंडल सह विज्ञान संग्रहालय का निर्माण कराया जा रहा है.

तारामंडल परिसर में डेढ़ सौ सीटों के प्लैनेटेरियम और 300 सीटों के ऑडिटोरियम का निर्माण हो रहा है. जबकि एक विज्ञान संग्रहालय, ऑडिटोरियम और विज्ञान की गतिविधियों व शोध के लिए भी अलग से भवन और हॉल बनाए जाएंगे. तारामंडल के छत पर पाथवे बनाया जा रहा है. इसके साथ ही रूफ गार्डन विकसित किया जा रहा है. लोग वहां बैठकर प्रकृति के बीच इंजॉय कर सकेंगे. तारामंडल बन जाने के बाद स्थानीय स्तर पर रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे.

इसके अतिरिक्त मिथिला सहित पड़ोसी देश नेपाल के सीमावर्ती जिलों के छात्र-छात्राओं को नक्षत्र विज्ञान से जुड़े पहलुओं की जानकारी मिल सकेगी. साथ ही यहां कई तरह के खगोलीय अनुसंधान भी किया जा सकेगा. वहीं तारामंडल का निर्माण कार्य में लगे इंजीनियर अब्दुल बारी बताते हैं कि दरभंगा तारामंडल आधुनिक तारामंडल होगा. इसका 73 करोड़ 73 लाख की लागत निर्माण हो रहा है और इसे 31 मई तक दर्शकों के लिए खोल देने की योजना है.

जबकि तारामंडल के निर्माण को लेकर बिहार सरकार के मंत्री संजय कुमार झा कहते हैं कि बहुत खुशी की बात है कि दरभंगा में लगातार विकास का काम हो रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने छात्रों के लिए बहुत सारे कार्य किये है. अब तारामंडल भी दरभंगा के लिए एक बड़ी उपलब्धि है. जबकि दरभंगा के भाजपा विधायक संजय सरावगी कहते हैं कि दरभंगा का तारामण्ड न सिर्फ पटना के तारामंडल से ज्यादा बड़ा होगा बल्कि सबसे आधुनिक भी होगा. यहां पर लोगों को नक्षत्र विज्ञान से जुड़े विषयों पर अनुसंधान करने के अवसर प्राप्त होंगे.