Bihar में आयी योजनाओं की बहार, 10 लाख तक मिलेगा लोन

Share It

बिहार अब बेरोज़गारी से रोजगार के तरफ बढ़ रहा है। अब रोजगार के लिए किसी को भी अपने घर और बिहार को छोड़कर दूसरे प्रदेश नहीं जाना होगा। क्योंकि बिहार सरकार ने बेरोजगार युवाओं के रोजगार और स्‍टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए अब तक की सबसे बेहतरीन योजना लांच की है।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में रोजगार को बढ़ावा देते हुए मुख्‍यमंत्री युवा उद्यमी योजना और मुख्‍यमंत्री महिला उद्यमी योजना को लांच किया। इसके साथ ही उन्होंने राजधानी दिल्ली के द्वारिका में एक नवनिर्मित बिहार सदन का भी उद्घाटन किया।

विभिन्न सरकारी, गैर सरकारी कार्य तथा चिकित्सा कार्य हेतु दिल्ली जा रहे लोगों के जरूरतों के लिए इस बिहार सदन की परिकल्पना बिहार के मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी जो अब बनकर तैयार हो चुकी है। आपको बता दें की राजधानी दिल्ली के चाणक्यपुरी में बिहार सरकार के दो भवन, बिहार निवास एवं बिहार भवन पहले से ही स्थित है। लेकिन आधुनिकता की पटरी पर दौड़ते हुए बिहार तथा इसके साथ बढ़ती हुई जरूरतों को देखते हुए एक और भवन की जरूरत काफी समय से महसूस की जा रही थी। इस बिहार सदन की जरूरत को महसूस करते हुए राजधानी के द्वारिका में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2 मई 2018 को नींव रखी थी।

यह एक अत्याधुनिक सदन है जो बिहार सरकार द्वारा बिहार के बाहर राजधानी दिल्ली में बनाया गया है।‌ यह बिहार के विकास में मील का पत्थर साबित हो सकता है।

दो एकड़ में बने इस भवन की लागत लगभग 78 करोड़ रुपये है। इस 10 मंजिल वाले बिहार सदन में 108 कमरे हैं। इसके अलावा इसमें राज्यपाल और मुख्यमंत्री के साथ VVIP के लिए 8 अलग-अलग suites हैं। इस सदन में कैबिनेट के मंत्रियों के लिए 6 suites बनाए गए हैं। इस सदन के आधुनिकता की बात करें तो यह बिहार सदन भूकंप रोधी है तथा इसमें electricity के लिए solar plates का उपयोग किया जाएगा। इसमें विभागों के लिए अलग-अलग कार्यालय भी बनाया गया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार सदन के साथ-साथ 21 विभागों के 169 भवनों का भी उद्घाटन किया है। इसके साथ हीं उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 12 विभागों के 73 भवनों का भी शिलान्यास किया।

यह 21 विभागों के 169 भवन, करीब 1411 करोड़ की लागत से बनाए गए हैं जबकि 12 विभागों के 73 भवन 725.25 करोड़ की लागत से बनाये जायेंगे।
नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने राज्य के पांच इंजीनियरिंग कॉलेज के साथ ही राज्य के 5 सर्किट हाउस का भी उद्घाटन किया। इन सब के साथ ही बिहार में और भी कई भवन के निर्माण हो रहे हैं, जिसमें मुख्य रुप से बोधगया में स्टेट गेस्ट हाउस का निर्माण कराया जा रहा है और वहां महाबोधि सांस्कृतिक केन्द्र भी बनाया जायेगा।

बोधगया एक ऐतिहासिक जगह है जहां दुनियाभर से लोग आते हैं। बोधगया में बन रहे गेस्ट हाउस पर 136 करोड़ रूपये की लागत आयेगी।

इस गेस्ट हाउस के निर्माण से लोगों को 5 star होटल के तौर पर सुविधा प्राप्त हो सकेगी। इसके बाद वैशाली में बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय का भी निर्माण कराया जा रहा है। वहीं पटना में APJ Abdul Kalam साइंस सिटी, बापू टावर और अंजुमन इस्लामिया भवन का निर्माण भी कराया जा रहा है। पटना से दूर मुंगेर मे वाणिज्यिक महाविद्यालय का निर्माण हो रहा है।

यह तो रही बिहार में हो रहे भवन निर्माण और राजधानी दिल्ली में बने आधुनिक बिहार सदन की बात। अब बात करते हैं बिहार सरकार द्वारा बिहार के युवाओं को रोजगार से जोड़ने वाली योजना के बारे में। बिहार सरकार ने हाल ही में मुख्‍यमंत्री युवा उद्यमी योजना और मुख्‍यमंत्री महिला उद्यमी योजना को लांच किया है। इन योजनाओं के तहत युवाओं को खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार द्वारा 10 लाख रुपए तक का लोन 50 फीसद अनुदान के साथ दिया जाएगा।

इस योजना का लाभ बिहार में रहने वाले हर वर्ग और जाति के लोग उठा सकेंगे। योजना के तहत मिलने वाले 10 लाख के लोन में केवल पांच लाख रुपए ही चुकाने होंगे। और जैसा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य की बेटीयों और महिलाओं के लिए हर बार कुछ नई योजना लाते रहते हैं तो इस बार भी महिलाओं को इस योजना के तहत मिलने वाले लोन के लिए कोई ब्‍याज भी नहीं देना होगा। बाकी सभी को भी केवल 1% ब्‍याज देना होगा। यह लोन चुकाने के लिए सात साल तक का समय मिल सकता है।

यह योजना 18 जून 2021 को लांच की गई थी। अब आइये जानते हैं की आप इस योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको इसके लिए आवेदन करना होगा।
  • इस योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन है।
  • आवेदन करने के लिए आपके पास कुछ जरूरी कागजात होने चाहिए, जिसकी जानकारी आपको आवेदन करते वक्त सूचना में उपलब्ध होगी।
  • आवेदन के लिए दिए गए लिंक को जब आप खोलेंगे तो सबसे पहले आपको रजिस्ट्रेशन करने का पेज खुलेगा।
  • रजिस्ट्रेशन पेज पर नाम, Email I’d, Mobile No. और Adhar No. जैसी जानकारियां साझा करनी होंगी।
  • एक मोबाइल और आधार नंबर से एक ही रजिस्‍ट्रेशन होगा।
  • रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया आधार से लिंक आपके मोबाइल पर प्राप्‍त OTP के जरिये पूरी होगी।
  • रजिस्‍ट्रेशन प्रोसेस पूरा होने के बाद आप Login कर सकेंगे और इसके बाद आपको आवेदन करने का विकल्‍प सामने आएगा।

आपको बता दें कि रजिस्‍ट्रेशन के वक्‍त आपको योजना का नाम भी चुनना होगा। नए उद्यमियों के लिए सरकार ने अनुसूचित जाति-जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग, महिला और सामान्‍य युवा के लिए चार अलग-अलग कोटियां निर्धारित की हैं। हर कोटि के लिए योजना के नियम लगभग एक जैसे हैं लेकिन हर कोटि के लिए सबका कोटा अलग-अलग निर्धारित किया गया है। कोटा के तहत निर्धारित संख्‍या के आधार पर ही योजना का लाभ मिलेगा। यह योजना असीमित लाभकों के लिए नहीं है।

आईये अब जानते हैं जरूरी डाक्यूमेंट्स के बारे में जो साइट पर अपलोड होंगे।

जाति प्रमाण पत्र, उम्र के लिए मैट्रिक का प्रमाणपत्र, इंटरमीडिएट या समकक्ष का प्रमाणपत्र, उच्‍चतम शैक्षणिक योग्‍यता का प्रमाणपत्र, आवासीय प्रमाणपत्र, फर्म/कंपनी के निबंधन का प्रमाणपत्र, फर्म का या निजी पैन कार्ड, जमीन से संबंधित लगान रसीद, एग्रीमेंट या किरायानामा, कैंसल चेक, आवेदक की फोटो, आवेदक के हस्‍ताक्षर की फोटो।
अपलोड किए जाने वाले सभी दस्‍तावेज jpg, jpeg, png या pdf format में ही होने चाहिए।
आवेदन सबमिट करते ही आपके सामने रसीद आ जाएगी। इसका प्रिंट अपने पास निकाल कर रख लें।

इस योजना में untrained इंटर पास युवा भी आवेदन कर सकते हैं। चयन के बाद सरकार हर इकाई में कार्यरत लोगों को ट्रेनिंग देने के लिए 25 हजार रुपए की व्‍यवस्‍था करेगी। पांच लाख रुपए लौटाने के लिए आपको सात साल का वक्‍त मिलेगा। पुराने उद्योगों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। यह योजना केवल नए उद्यमियों के लिए ही है।

चयनित उद्यमियों को बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्‍साहन नीति 2016 का भी लाभ मिलेगा। आवेदन करने से पहले एक बार उद्योग विभाग की वेबसाइट (https://udyami.bihar.gov.in/) पर दिए गए निर्देशों को भी ठीक तरीके से पढ़ लें।

https://udyami.bihar.gov.in/user-manual

https://udyamiuser.bihar.gov.in/