जय Bihar : यहां जिंदो को नौकरी नहीं, मुर्दो का हो रहा है तबादला वो भी प्रोमोशन के साथ

Share It

अगर आपको कुछ अजीबो गरीब कारनामा देखने का दिल करें, तो Bihar के खबरों की तरफ भी रुख कर सकते हैं। बिहार में सनी लियोन (Sunny Leone) जूनियर इंजीनियर बनती हैं तो साउथ की खूबसूरत अदाकारा STET की परीक्षा पास कर जाती हैं। ठीक इसी तरह बिहार के सरकारी महकमें में कुछ अजब गजब घटना घटी है।

इस बार का कारनामा कृषि विभाग के तरफ से आया है, जिसने विभागीय व्यवस्था पर प्रश्नचिह्न लगा दिया है। एक मृत कृषि पदाधिकारी का तबादला कर दिया गया है। जबकि, उनकी मौत दो महीने पहले अप्रैल में ही कोरोना से हो चुकी है। इसके बाद भी कृषि विभाग, पटना में पोस्टेड रहे अधिकारी का तबादला भोजपुर जिले में किया गया है।

पटना जिले के नौबतपुर में पदस्थापित रहे दिवंगत प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी अरुण कुमार शर्मा (Arun Kumar Sharma) का तबादला भोजपुर जिले के चौगाई में प्रखंड कृषि पदाधिकारी के रूप में किया है। लेकिन सरकार को यह नहीं पता कि चौगाई, भोजपुर जिले में नहीं, बल्कि बक्सर जिले में है।

बिहार में जून महीने की ट्रांसफर-पोस्टिंग शुरू हो गई है। बीते 24 घंटे में अलग-अलग विभागों से 1541 ट्रांसफर-पोस्टिंग हो चुकी है। लगभग 6 विभागों में हुए ट्रांसफर-पोस्टिंग में सीओ से लेकर इंजीनियर्स तक का तबादला हुआ है। आनेवाले 24 घंटों में और कई विभागों की ट्रांसफर-पोस्टिंग लिस्ट जारी होनी है।

मूल रूप से नवादा के रहने वाले अरुण कुमार शर्मा का निधन कोरोना की दूसरी लहर में 27 अप्रैल को हुआ था। नौबतपुर के प्रखंड कृषि पदाधिकारी अरुण कुमार शर्मा का इलाज राजधानी पटना स्थित जक्कनपुर के श्रीराज ट्रस्ट हॉस्पिटल में चल रहा था।

इससे पहले 8 मार्च 2021 को स्वास्थ्य विभाग ने 12 अधिकारियों के तबादले का नोटिस जारी किया था। नोटिस में शामिल 12 डॉक्टरों में से एक डॉक्टर रामनारायण राम की मौत हो चुकी थी, लेकिन विभाग ने उनका तबादला करने के साथ ही उन्हें प्रोमोशन भी दिया था।