दुनिया भर के क्रिकेट बोर्ड्स को नुकसान, फिर भी BCCI बनी हुई है सबसे अमीर

Share It

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले खेलों में से एक क्रिकेट भी है। फुटबॉल, रग्बी, टेनिस, बैडमिंटन की लोकप्रियत के बीच क्रिकेट ने खेल जगत में अपने लोकप्रियता में नई ऊंचाई हासिल की है।
क्रिकेट का संचालन इंटरनेशनल क्रिकेट कॉउन्सिल (ICC) करता है। हर वह देश जो क्रिकेट खेलता है वहां की टीम का प्रबंधन उनके संबंधित बोर्ड द्वारा किया जाता है।

क्रिकेट के घरेलू ढांचे की देखभाल, स्पॉन्सरशिप लाना, खिलाड़ियों का भुगतान और अन्य संसाधनों को संभावना, अधिक फैंस को जोड़ना, बड़े टिकट टूर्नामेंट की मेजबानी करना, जूनियर-सीनियर या पुरुष / महिला क्रिकेट का सुचारू रूप कामकाज देखना यह सारे कार्य देश के घरेलू क्रिकेट बोर्ड द्वारा किया जाता है। खिलाड़ियों को भ्रष्टाचार इत्यादि से दूर रखना भी क्रिकेट बोर्ड की जिम्मेदारी होती है।

किसी भी क्रिकेट बोर्ड के लिए सबसे अहम काम राजस्व (Revenue) जमा करना होता है। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की वजह से अन्य खेलों की तरह क्रिकेट पर भी गहरा असर हुआ है। लगभग सभी बोर्ड की कमाई में कमी आयी है तो वहीं कइयों की हालत खस्ता है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) की कमाई में भी कमी हुई है। पर इसके बावजूद भी बीसीसीआई अभी भी दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बना हुआ है।
रिपोर्ट्स के अनुसार बीसीसीआई की साल 2021 में कुल रेवेन्यू 3,730 करोड़ है। वहीं, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) रेवेन्यू के मामले में BCCI से काफी पीछे हैं। 2021 में CA का रेवेन्यू 2,843 करोड़ है तो वहीं ECB का 2,135 करोड़।

दुनिया की टॉप 10 रेवेन्यू वाली क्रिकेट बोर्ड कुछ इस प्रकार है:

BCCI (भारत) – 3,730 crore
CA (ऑस्ट्रेलिया) – 2,843 crore
ECB (इंग्लैंड) – 2,135 crore
PCB (पाकिस्तान) – 811 crore
BCB (बांग्लादेश) – 802 crore
CSA (दक्षिण अफ्रीका) – 485 crore
NZC (न्यूज़ीलैंड) – 210 crore
WICB (वेस्टइंडीज) – 116 crore
ZCB (ज़िम्बाब्वे) – 113 crore
SLC (श्रीलंका) – 100 crore

भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के क्रिकेट बोर्ड को छोड़ दें तो बाकी क्रिकेट बोर्ड की कमाई का आंकड़ा एक हजार करोड़ से नीचे हैं। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को जहां साल 2021 में 811 करोड़ का रेवेन्यू मिला है तो वहीं बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने 802 करोड़ कमाए हैं।
क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने 485 करोड़, न्यूजीलैंड क्रिकेट ने 210 करोड़, वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने 116 करोड़ की कमाई की। इनके अलावा जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को 113 करोड़ तो श्रीलंका बोर्ड को 100 करोड़ का रेवेन्यू मिला है।