Tokyo Olympic : पहली बार भारतीय महिला हॉकी टीम पहुंची सेमीफाइनल में, ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराया

Share It

टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारतीय महिला हॉकी टीम ने अपने हॉकी स्टिक से इतिहास रचा दिया है। टीम ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराकर पहली बार सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई है। भारत की तरफ से गुरजीत कौर (Gurjeet Kaur) ने एकमात्र गोल 22वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर दाग कर इतिहास रच दिया है। भारतीय महिला हॉकी टीम पूरे मैच में अटैकिंग गेम खेल कर ऑस्ट्रेलिया महिला हॉकी टीम पर हावी रही। अब सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सामना 4 अगस्त को अर्जेंटीना से होगा। अर्जेंटीना ने क्वार्टर फाइनल में जर्मनी को 3-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

जब 1980 में भारतीय महिला हॉकी टीम ने पहली बार हिस्सा लिया था, तब सेमीफाइनल वाला फॉर्मेट नहीं था। उस वक़्त ग्रुप स्टेज के बाद सबसे ज्यादा पॉइंट वाली 2 टीमें सीधे फाइनल खेला करती थी। भारतीय टीम तब 6 टीमों के पूल में चौथे स्थान पर रही थी। फिर 2016 के रियो ओलिंपिक में टीम इंडिया 12वें स्थान पर रही।

बता दें कि भारत को लगातार 2 दिनों में इस इवेंट में लगातार खुशियां मिलीं है। रविवार 1 अगस्त को पुरुष हॉकी टीम 49 साल बाद ओलिंपिक में सेमीफाइनल में पहुंची। उसने क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराया और अब महिला हॉकी टीम ने सेमीफाइनल में जगह बनाकर इस ख़ुशी को चार चाँद लगा दिया।