‘Tej Pratap Yadav’ पर बुलडोजर चलाएगी BJP, भाजपा के मंत्री ने चेताया

Share It

PATNA : देश भर में इस वक़्त बुलडोजर शब्द पर सियासत काफी तेज है. बिहार में भी इसको लेकर नेताओं के बयानबाजी का सिलसिला शुरू हो चुका है. इसी बीच इस पूरे मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) भी कूद गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर सीधा प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) पर ही हमला बोल दिया. इसके बाद से बिहार में राजद और BJP के नेता आमने-सामने हो गए हैं.

दरअसल, दिल्ली के जहांगीरपुरी में अवैध घरों पर बुलडोजर चलने के बाद बिहार में सियासत गरमाई हुई है. इस पूरे प्रकरण पर तेजप्रताप ने एक ट्वीट किया था. अपने ट्वीट में तेज ने लिखा था- नरेंद्र मोदी हर दिन नीचता में नए कीर्तिमान स्थापित कर रहें हैं. #StopBulldozingHouses. फिर क्या था तेज के इस ट्वीट का जवाब बीजेपी कोटे से नीतीश सरकार में पथ निर्माण मंत्री नितिन नबीन ने दिया.

https://twitter.com/TejYadav14/status/1516813397035151361?s=20&t=KitUqFBCkVrW1fxEDLeE8w

मंत्री नितीश नबीन ने तेजप्रताप को नसीहत दे डाली. उन्होंने कहा कि वे जरा सोच-समझकर बोलें नहीं तो उनके खिलाफ भी बुलडोजर चल सकता है. बीजेपी कोटे से मंत्री नितिन नबीन ने तेज प्रताप यादव पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि उनके जैसे सभी लोगों पर भी बुलडोजर चल सकता है, जिन्‍होंने जमीन हथिया रखा है.

नितिन नबीन ने कहा कि अगर वो सोच-विचार कर नहीं बोलेंगे तो उनको बिहार की जनता सबक सिखा देगी. हमारी सरकार उनके साथ वैसे तमाम लोगों पर भी बुलडोजर चलाएगी जिन्होंने कानून को तोड़ कर किसी की जमीन पर कब्जा कर रखा है.

मंत्री ने कहा कि अभी तो उनकी पार्टी ने उन्‍हें दरकिनार कर दिया. बिहार में भी उनको दरकिनार कर दिया जाएगा. राजद में खुद हाशिये पर हैं. हताशा-निराशा में वे ऐसे शब्‍दों का प्रयोग कर रहे हैं उन्‍हें चेतावनी देता हूं कि ऐसा न बोलें. देश के प्रधानमंत्री के लिए क्‍या शब्‍द होने चाहिए इसका न तो उन्‍हें सामाजिक ज्ञान है और न घर में उन्‍हें ऐसे संस्‍कार दिए गए हैं.

गौरतलब हो कि दिल्ली के जहांगीरपुरी में जिस तरीके से अवैध मकानों पर बुलडोजर चलाया गया, विपक्ष उसका पुरजोर विरोध कर रहा है. पिछले दिनों नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने दिल की बात के बहाने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि बिहार जैसे गरीब राज्य में बीजेपी डबल इंजन की सरकार होते हुए भी विकास के काम को छोड़ नफरत और साम्प्रदायिक राजनीति करने से बाज नहीं आ रही है.