पशुपति पारस को लग रहा Chirag Paswan से डर, सरकार से सुरक्षा बढ़ाने को कहा, जानलेवा हमले का आरोप

Share It

PATNA : केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री और राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (Rashtriya Lok Janshakti Party) के अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) इन दिनों दहशत में जी रहे हैं. उन्हें अपने भतीजे और दिवंगत नेता रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान (Chirag Paswan) से डर लग रहा है. पशुपति ने चिराग के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए सरकार से सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है.

पटना जिले के मोकामा में हुए केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस पर हमले का आरोप चिराग पासवान के ऊपर लगाया जा रहा है. लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) के ऊपर आरोप है कि उन्होंने अपने चाचा पशुपति को जान से मरवाने की कोशिश की और इसीलिए उन पर जानलेवा हमला कराया.

केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने कहा कि चौहरमल मेले में शनिवार को हुई घटना के पीछे सांसद चिराग पासवान की साजिश है. केंद्रीय मंत्री ने आगे भी ऐसी आशंका को देखते हुए राज्य सरकार से उनकी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है. साथ ही उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग की है.

पशुपति कुमार पारस ने रालोजपा कार्यालय में बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी राज्य की सीआईडी से रिपोर्ट मांगी है, ताकि आगे की जांच प्रक्रिया पूरी हो सके. केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री ने कहा कि वे मुख्यमंत्री से मिलकर भी जांच की मांग कर चुके हैं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोकामा में हमले के कई सुबूत मिले हैं. जिसके आधार पर चिराग पासवान के खास अमर आजाद और संजय रविदास के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई है. उन्होंने आरोप लगाया कि चिराग ने पहले उन पर हाजीपुर में जानलेवा हमला करवाया था.

इधर, लोजपा (रामविलास) के प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी ने चिराग पासवान के खिलाफ केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस के लगाए आरोपों को ओछी राजनीति का परिचायक बताया है. राजू तिवारी ने कहा कि बाबा चौहरमल की जयंती कार्यक्रम में बड़ी संख्या में उनके अनुयायी उन्हें नमन करने पहुंचे थे. ऐसे में एक खास जाति पर वहां नशा करके आने और किसी द्वारा प्रायोजित होकर विरोध प्रदर्शन करने का आरोप शर्मनाक और आपत्तिजनक है.