रेलवे Group D की बहाली में बड़ा बदलाव, DV के लिए जितनी सीटें उतने ही बच्चों को बुलाया जायेगा, नाम के आधार पर बनेगी मेरिट लिस्ट

Share It

DESK : रेलवे द्वारा एनटीपीसी भर्ती परीक्षा में बदलाव किये जाने के बाद अब ग्रुप डी (RRB Group D Exam) की बहाली में भी बड़ा बदलाव किया गया है. Railway Group D परीक्षा में इसबार 5 बड़े बदलाव किये गए हैं. विज्ञप्ति (Notification) में संशोधन (Amendment) को लेकर रेल मंत्रालय की ओर से ताजा नोटिस भी जारी कर दिया गया है. आइये आपको विस्तार से बताते हैं कि वो 5 बड़े बदलाव क्या-क्या हैं –

ये हैं 5 बड़े बदलाव –

  1. रेलवे ने ताजा नोटिस जारी कर बताया है कि किसी भी तारीख में बना EWS सर्टिफिकेट (Economically Weaker Section Certificate) मान्य होगा.
  2. रेलवे ने आगे बताया है कि जितने पदों पर (1.03 लाख पदों पर) बहाली होने वाली है. उतने ही अभ्यर्थियों को अब दस्तावेज़ सत्यापन (Document Verification) के लिए बुलाया जायेगा. आपको बता दें कि सबसे पहले रेलवे ने डेढ़ गुना अभ्यर्थियों को बुलाने की बात कही थी. उसके बाद इसे घटाकर वैकेंट सीट (1.03 लाख) से 5% अधिक कैंडिडेट बुलाने की बात गई लेकिन अब इसे भी खत्म कर दिया गया है. रेलवे ने कहा है कि जितनी सीटें उतने ही बच्चे डीवी के लिए आएंगे.

नोटिफिकेशन में कहा गया था कि PET क्वालिफाई करने वाले अभ्यर्थियों को CBT में प्रदर्शन के आधार पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा. यदि कोई पैनल में शामिल कोई चयनित उम्मीदवार ज्वॉइन नहीं करता है तो एक्स्ट्रा उम्मीदवारों की लिस्ट में से उस रिक्त पद को भरा जाएगा. रेलवे ने नए नोटिस में यह साफ कर दिया है कि PET क्वालिफाई करने वाले अभ्यर्थियों को CBT में प्रदर्शन के आधार पर 1:1 अनुपात में ही डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा.

  1. रेलवे के नए नोटिस में कहा गया है कि परीक्षा कई सेशन या शिफ्ट में हो सकती है. इसलिए परसेंटाइल स्कोर बेस्ड नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूले (Normalization Formula) का इस्तेमाल किया जाएगा. अगर दो उम्मीदवारों के समान परसेंटाइल आते हैं तो मेरिट तय करते समय पहले वाला फॉर्मूला ही इस्तेमाल होगा. फॉर्मूला बदलने का अधिकार रेलवे के पास रहेगा.
  2. अगर दो या उससे अधिक उम्मीदवारों के नॉर्मलाइज्ड परसेंटाइल स्कोर समान होते हैं. तो उनकी मेरिट आयु (Age) से तय होगी. अधिक उम्र वालों को मेरिट में ऊपर रखा जाएगा. अगर आयु भी समान है तो फिर नाम का Alphabetical Order (A to Z) देखा जाएगा. यानि कि अगर ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है तो नाम के आधार पर ही अभ्यर्थी को मौक़ा मिलेगा.
  3. अब असिस्टेंट प्वॉइंट्समैन के पद को प्वॉइंट्समैन कहा जाएगा.

आपको बता दें कि जनवरी महीने में रेलवे अभ्यर्थियों ने बड़े ही जोरशोर के साथ आंदोलन किया था. रेलवे की बहाली में बार-बार संशोधन किये जाने और परीक्षा में देरी से नाराज अभ्यर्थियों ने हंगामा करते हुए कई ट्रेनों में आग लगा दी थी. अभ्यर्थियों ने ग्रुप डी की कंप्यूटर आधारित परीक्षा को दो चरणों में लिए जाने पर आपत्ति जतायी थी.

अभ्यर्थियों ने कहा था कि तीन साल बाद परीक्षा हो रही है. इतने लंबे समय बाद दो चरणों की सूचना देना गलत है. इससे भर्ती प्रक्रिया में और देरी होगी. इसके अलावा ग्रुप डी में सभी अभ्यर्थियों के लिए आंखों की मेडिकल जांच अनिवार्य किए जाने पर भी सवाल उठाए गए थे. साथ ही EWS सर्टिफिकेट की मान्यता को लेकर भी सवाल खड़े किये गए थे. जिसमें अब बदलाव करते हुए रेलवे ने अभ्यर्थियों की मांग मान ली है.

गौरतलब है कि आरआरबी एनटीपीसी के संशोधित रिजल्‍ट जारी होने के अलावा आरआरबी ग्रुप डी भर्ती परीक्षा भी होनी है. माना जा रहा है परीक्षा का आयोजन जुलाई में किया जाएगा.

आपको बता दें कि रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप डी परीक्षा पहले 19 फरवरी 2022 से आयोजित होने वाली थी. लेकिन कोरोना महामारी और एनटीपीसी रिजल्‍ट विवाद समेत कई अन्‍य कारणों के चलते परीक्षा को स्थगित कर दिया गया था. ऐसे में बोर्ड जल्‍द ही एडमिट कार्ड आधिकारिक वेबसाइट rrbcdg.gov.in पर जारी कर सकती है. रेलवे अभ्यर्थी इसे जरूरी लॉगिन क्रेडेंशियल के जरिए इसे डाउनलोड कर सकेंगे.

ऐसे डाउनलोड करें एडमिट कार्ड –

  • रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप डी एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए रेलवे भर्ती बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट यानी rrbcdg.gov.in पर जाएं
  • यहां ग्रुप डी एडमिट कार्ड से संबंधित एक विकल्प पर क्लिक करें
  • ऐसा करते ही एक नया वेब पेज खुलेगा, जहां आपको प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के क्रेडेंशियल दर्ज करना होगा। इसके बाद सबमिट के विकल्प पर टैप करें
  • आपका एडमिट कार्ड आपके सामने दिखाई देगा, इसके डाउनलोड करें और प्रिंटआउट रख लें