Bihar में 26 हजार 852 शिक्षा सेवकों का होगा तबादला, नियोजित शिक्षकों से पहले ट्रांसफर करेगी सरकार

Share It

PATNA : बिहार (Bihar) में नियोजित शिक्षकों के तबादले की तस्वीर अभी साफ़ नहीं हो पाई है. लेकिन इससे पहले नीतीश सरकार ने एक बड़ा निर्णय लिया है. राज्य में कार्यरत 26 हजार से अधिक शिक्षा सेवकों का तबादला करने का फैसला किया गया है. इसे लेकर सरकार की ओर से दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं.

आपको बता दें कि महादलित, दलित, अल्पसंख्यक और अति पिछड़ा वर्ग अक्षर आंचल योजना और तालीमी मरकज से जुड़े शिक्षा सेवकों का तबादला होने वाला है. जोरशोर के साथ इसकी तैयारी की जा रही है. एक महीने के अंदर ट्रांसफर किया जा सकता है. बताया जा रहा है कि 26 हजार 852 शिक्षा सेवकों को एक माह के अंदर दूसरी पंचायतों में या सेंटरों पर भेजा जायेगा.

आपको बता दें कि ये शिक्षा सेवक लगभग 8-9 सालों से एक ही जगह पर जमे हैं. दरअसल, शिक्षा विभाग चाहता है कि इनके सेंटर बदल कर योजना में आयी जड़ता को खत्म किया जाये तबादले का यह निर्णय बिहार टेक्स्ट बुक कमेटी भवन के सभागार में मंगलवार को जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (साक्षरता) और राज्य संसाधन समूह के सदस्यों की हुई बैठक में लिया गया.

जन शिक्षा के निदेशक सह विशेष सचिव सतीश चंद्र झा ने बैठक के दौरान ही इस संबंध में निर्देश भी जारी किये. जानकारी के मुताबिक प्रदेश में 26 हजार 856 शिक्षा सेवक कार्यरत हैं. इनका काम उस टोले के बच्चों को कोचिंग देना और प्रारंभिक स्कूलों की मुख्यधारा से जोड़ना है. इसके साथ ही शिक्षा सेवक उस टोले की 15-45 उम्र की असाक्षर महिलाओं में कार्यात्मक साक्षरता बढ़ाने में योगदान देते हैं.