Tasmanian devils : 3,000 साल बाद पैदा हुआ यह जानवर

Share It

ऑस्ट्रेलिया का 3,000 साल का इंतज़ार आज ख़त्म हुआ। दरअसल ऑस्ट्रेलिया मेनलैंड के जंगल में लुप्तप्राय जानवर Tasmanian devils 3,000 से अधिक वर्षों में पहली बार पैदा हुए हैं। इन्हें दुनिया का सबसे बड़ा मार्सुपियल कार्निवोर (Marsupail Carnivore) भी कहा जाता है। तस्मानियाई डैविल एक मांसाहारी मार्सुपियल है जो अब केवल ऑस्ट्रेलिया के द्वीप राज्य Tasmania के जंगलों में ही पाया जाता है। इसका आकार एक छोटे कुत्ते के बराबर होता है।

ऑस्ट्रेलियाई NGO Aussie Ark ने बताया कि सात तस्मानियाई डैविलों का जन्म New South Wales में 988 एकड़ के Barrington Wildlife Sanctuary में हुआ है। इससे पहले, इस NGO ने मेनलैंड ऑस्ट्रेलिया में 11 जीवों को वापस जंगल में पेश किया था, जिसमें 15 मार्सुपियल्स शामिल थे, जिसमें तस्मानियाई डैविलों की कुल संख्या 26 थी।

ये सातों शावक सेहतमंद और सुरक्षित हैं। अगले कुछ हफ्तों तक फॉरेस्ट रेंजर्स इन पर नजर रखेंगे और इनके विकास की निगरानी करेंगे। ऑसी आर्क कंजरवेशन ग्रुप ने पिछले साल 26 वयस्क तस्मानियन डेविल्स को खुले जंगल में प्रजनन के लिए छोड़ा था। इनके पैदा होने से ये उम्मीद जागी है कि इन विलुप्तप्राय प्रजाति की आबादी अब बढ़ सकती है।

तस्मानियाई डेविल्स का एक प्रकार के जंगली कुत्ते, Dingoes द्वारा शिकार किए जाने के बाद मेनलैंड पर मिटा दिया गया था। इसके बाद इनकी आबादी तस्मानिया राज्य तक ही सीमित रह गई। लेकिन फेसिअल ट्यूमर की बीमारी के कारण 1990 के दशक से वहां भी संख्या में गिरावट आई है। आज तस्मानिया के जंगल में सिर्फ 25,000 डेविल बचे हैं।