Bihar में 10 हजार पदों पर वैकेंसी, SSC के जरिये हो रही बहाली, देखिये डिटेल

Share It

PATNA : अगर आप भी बिहार में रहकर नौकरी करना चाहते हैं तो यह खबर आपको सुकून जरूर देगी. दरअसल बिहार के विश्वविद्यालयों में तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए रोस्टर क्लियरेंस कराया जा रहा है. इसके आदेश जारी हो चुके हैं. करीब आधा दर्जन विश्वविद्यालय रोस्टर क्लियरेंस करा भी चुके हैं. हालांकि, अभी छह से अधिक विश्वविद्यालयों को रोस्टर क्लियरेंस कराना बाकी रह गया है.

शिक्षा विभाग ने संबंधित विश्वविद्यालयों को इस संबंध में तत्काल रोस्टर क्लियरेंस कराने के निर्देश दिये हैं, ताकि नियुक्ति के लिए बिहार कर्मचारी चयन आयोग (Bihar SSC) को अनुशंसा भेजी जा सके. जानकारी के मुताबिक विश्वविद्यालयों में तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों की नियुक्तियां विभाग के स्तर पर की जा रही हैं. इससे पहले कई विश्वविद्यालयों ने अपने स्तर पर कर ली थीं.

इसको लेकर शिक्षा विभाग ने ऐसे विश्वविद्यालयों को एक पत्र लिख कर चेतावनी दी थी. बताया था कि विश्वविद्यालयों को तृतीय श्रेणी और दूसरी नियुक्तियां करने का अधिकार नहीं है, इसलिए सभी विवि यह सुनिश्चित करें कि शिक्षा विभाग के पत्र जारी होने की तिथि के बाद एक भी नियुक्ति उनके स्तर से नहीं होनी चाहिए.

इधर, सरकारी कॉलेजों में फुट टाइम प्राचार्यों की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू की जानी है. विश्वविद्यालय के स्तर पर इसकी जानकारी भेजी जा रही है. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक फुल टाइम प्राचार्यों की नियुक्ति राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग के जरिये करायी जानी है.

बहाली पर अगर एक मोटे तौर पर नजर डाली जाए तो बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में अभी लगभग 10 हजार के आसपास पद खाली हैं, जिसमें बताया जा रहा है, कि पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के अलावा मगध विश्वविद्यालय, पटना विश्वविद्यालय, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, जयप्रकाश विश्वविद्यालय, बिहार विश्वविद्यालय, ललित नारायण, मिथिला विश्वविद्यालय, तिलका मांझी भागलपुर, मुंगेर विश्वविद्यालय सहित कई अन्य विश्वविद्यालयों विभिन्न पदों की वैकेंसी खाली है.