Chapra में जहरीली शराब पीने से युवक की मौत, डॉक्टर ने की पुष्टि

Share It

SARAN : बिहार में जहरीली शराब पीने से मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसी बीच सारण जिले के छपरा (Chapra) में एक व्यक्ति की मौत शराब पीने की वजह से हुई है. डॉक्टर ने खुद इसकी पुष्टि की है. हालांकि पुलिस-प्रशासन ने अबतक इसपर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है और न ही पुष्टि की है.

मिली जानकारी के अनुसार, पानापुर थाना क्षेत्र के भोरहां गांव निवासी परदेसी ठाकुर का 35 वर्षीय पुत्र मुकेश ठाकुर की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि उसकी तबीयत काफी ख़राब थी. छपरा में इलाज के क्रम में ही डॉक्टर ने शराब पीने की पुष्टि की थी. उसकी हालत गंभीर होने के बाद उसे रात में ही पटना रेफर कर दिया गया था. लेकिन पटना जाने के क्रम में उसकी मौत हो गई.

अस्‍पताल के प्रिसक्रिप्‍शन पर लिखी शराब पीने की बात। जागरण

परिजनों ने बताया कि मुकेश ठाकुर क्वार्टर बाजार में सैलून चलाता था. सोमवार को शादी में बगल ही किसी गांव में गया था. वहां से आने पर उसकी तबीयत बिगड़ने लगी. बुधवार को उसने बताया कि उसे आंखों से कम दिखाई दे रहा था. इसके बाद उसे इलाज के लिए मशरक ले जाया गया. वहां से चिकित्सकों ने शाम में छपरा रेफर कर दिया. मुकेश ठाकुर को तेज पेट दर्द की शिकायत की थी. उसने खुद भी बताया था कि बारात आई थी, उसी में उसने शराब पी थी.

सदर अस्पताल में हालत नाजुक देखने के बाद डॉक्टर ने पीएमसीएच रेफर कर दिया. बताया जाता है कि पीएमसीएच जाने के दौरान गड़खा पहुंचते ही युवक की सांसें थम गईं. जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. घटना के संबंध में सिविल सर्जन ने बताया कि उपाधीक्षक के नेतृत्व में मेडिकल टीम का गठन किया गया है.

टीम को काफी बारीकी से शव का पोस्टमार्टम करने का निर्देश दिया गया है. इधर मुकेश ठाकुर की मौत की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया. गौरतलब है कि शराब पीने से आंख की रोशनी जाने की सूचना मिलने पर बुधवार देर शाम डीएसपी इंद्रजीत बैठा और थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह पूरे दल बल के साथ भोरहां गांव पहुंचे थे. फिलहाल पुलिस प्रशासन को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है. पुलिस ने अबतक शराब पीने से मौत की खबर पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.