बिहार : BDO को लग रहा मुखिया से डर, कहा- सरकारी आवास में रहते हो, जान से मरवा देंगे… DM से मांगी सुरक्षा

Share It

BHAGALPUR : बिहार के भागलपुर जिले से एक ऐसी खबर सामने आई है, जो काफी हैरान करने वाली है. दरअसल एक प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) ने जिले के DM से सुरक्षा की मांग की है. मुखिया से जान से मारने की धमकी मिलने के बाद BDO ने डीएम से सुरक्षा देने की मांग की है. मामला सामने आने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है. डीएम ने जिले के SSP से कार्रवाई का अनुरोध किया है.

मामला भागलपुर जिले के सबौर BDO से जुड़ा है. बीडीओ ने डीएम को पत्र लिखकर मुखिया से अपनी जान को खतरा बताया है. सबौर BDO ने 26 अप्रैल की शाम बरारी मुखिया और उनके समर्थकों द्वारा की गई बदसलूकी का जिक्र करते हुए कहा कि मेरी जान को खतरा है. उन्होंने बरारी मुखिया पर एफआईआर दर्ज करने की भी मांग की.

इस मामले में डीएम ने एसएसपी को कार्रवाई का अनुरोध किया और एसडीओ को पूरे मामले की जांच करने को कहा है. उन्होंने ये भी कहा है कि बीडीओ-मुखिया के बीच विवाद की असली वजह क्या है, इसका पता लगाएं. बीडीओ प्रतीक राज ने कहा कि वह 26 अप्रैल की शाम डीएम के वीसी कार्यक्रम समाप्त होने के बाद प्रखंड कार्यालय में पंचायत कर्मियों के साथ साप्ताहिक बैठक कर रहे थे.

इसी क्रम में शाम करीब 7 बजे बरारी के मुखिया और उनके लोग हंगामा करने लगे. इससे बैठक प्रभावित हो गया. ऑफिस से डेरा जाने के दौरान मुखिया और उनके समर्थकों ने गंदी-भद्दी गालियां दी. धमकी दी गई कि सरकारी आवास में अकेले रहते हो. जान से मरवा देंगे. मुखिया ने एससीएसटी केस में फंसाने और किसी महिला द्वारा झूठे मुकदमे में फंसाने की भी धमकी दी.

बीडीओ ने डीएम को बताया कि इस दौरान फरका के सरपंच राजेश कुमार यादव, ग्रामीण अरुण कुमार राय, ममलखा के कार्यपालक सहायक अनुज प्रताप पासवान, फतेहपुर के पुरुषोत्तम कुमार मिश्रा, परघड़ी के श्याम कुमार यादव, एसबीएम आदि ने उन्हें बचाकर किसी तरह सुरक्षित आवास तक लाया. मुखिया के मोबाइल नंबर पर फोन करने की कोशिश की गई लेकिन स्वीच ऑफ बताया जा रहा है.