Bihar: मुखिया के बेटे की बेरहमी से हत्या, गुस्साए लोगों ने रोड जामकर काटा बवाल

Share It

SITAMARHI : बिहार (Bihar) में अपराधियों के हौसले पस्त होने की बजाय और मजबूत होते जा रहे हैं. आम आदमी के अलावा अपराधियों ने एक बार फिर जनप्रतिनिधियों और उनके परिजनों को निशाने पर लेना शुरू कर दिया है. इसी बीच एक बड़ी खबर बिहार के सीतामढ़ी से सामने आ रही है. यहां कुछ बदमाशों ने महिला मुखिया के बेटे की निर्मम हत्या कर दी.

दरअसल, बथनाहा थाना क्षेत्र अंतर्गत पूर्वी पंचायत के मुखिया मंतोरण देवी के पुत्र अनिल राम (25) की संदेहास्पद परिस्थितियों में मौत को हत्या करार दिया जा रहा है. सुबह होते ही हत्या के विरोध में लोग सड़क पर उतर आए. प्रखंड मुख्यालय के समीप एनएच-104 पथ को बांस-बल्ले से जाम कर टायर जला विरोध-प्रदर्शन कर अपने गुस्से का इजहार करने लगे. वे हत्यारों की गिरफ्तारी और मुआवजे की मांग पर डटे हुए हैं.

ईद के मौके पर इस वारदात से पुलिस-प्रशासन दोनों अलर्ट है. एसडीएम सदर राकेश कुमार और एसडीपीओ सदर रमाकांत उपाध्याय पहुंच गए. रामनगरा गांव के समीप एनएच-77 पर एक सीमेंट गोदाम के पास मुखिया पुत्र का खून से लथपथ शरीर हाइवे पर मरणासन्न पड़ा हुआ था. चेहरा कुचला हुआ और हाथ भी बंधा हुआ था. इस अवस्था में सड़क पर अनिल राम गिरे हुए बाइक के ऊपर पड़ा हुआ था. ऐसा लग रहा था कि जानलेवा हमला को दुर्घटना करार देने की साजिश रची गई हो.

गंभीर हालत में अनिल को पहले सीतामढ़ी शहर के एक निजी नर्सिंग होम ले जाया गया, लेकिन डॉक्टर ने भर्ती लेने से इनकार कर दिया. इसके बाद उसे सदर अस्पताल ले जाया गया लेकिन, अनिल ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. मृतक के पिता चंद्र राम जन वितरण प्रणाली की दुकान चलाते हैं. उसकी मां मंतोरण देवी इस बार दोबारा मुखिया निर्वाचित हुई हैं.

मामले पर थानाध्यक्ष अशोक कुमार का कहना है कि अभी छानबीन चल रही है. चुनाव के समय अनिल ही मुखिया का प्रतिनिधि भी था. उसकी मां दूसरी बार मुखिया निर्वाचित हुई हैं. पुलिस चुनावी रंजिश समेत कई एंगल को जोड़कर मामले की पड़ताल में जुट गई है.