Bihar: प्राइवेट स्कूल में 11 साल की बच्ची से घिनौनी हरकत, पीड़िता बोली.. ‘गलत जगह छूते हैं प्रिंसिपल सर’

Share It

ARARIA: बिहार (Bihar) के अररिया जिले से एक शर्मनाक घटना सामने आई है. एक प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल पर 11 साल की छात्रा ने गंदा काम करने का आरोप लगाया है. छात्रा द्वारा अपने परिजनों से शिकायत करने के बाद उसके पिता ने थाने में जाकर आवेदन दिया है और न्याय की गुहार लगाई है. आवेदन पर पुलिस के द्वारा केस दर्ज कर जांच की जा रही है.

मामला फारबिसगंज का है. थाना में दर्ज कराए गए केस में पिता ने बताया है कि फारबिसगंज के एक गांव का निवासी है. प्रोफेसर कॉलोनी स्थित निजी स्कूल के छात्रावास में रहते हुए उसके बच्चे पढ़ते हैं. उन्होंने बताया कि 24 मई मंगलवार की रात आठ बजे स्कूल के छात्रावास से किसी अन्य मोबाइल नंबर से उसके पुत्री ने फोन किया और पेट में दर्द होने की बात कहकर मिलने के लिए बुलाया.

बुधवार 25 मई को दोपहर लगभग डेढ़ बजे वह निजी विद्यालय के छात्रावास पहुंछे. छात्रावास पहुंचते ही उसकी पुत्री दौड़ कर आई और उसके गले लगकर लिपट कर जोर जोर से रोने लगी और घर जाने की जिद करने लगी, जिसके बाद उसने स्कूल के संचालक सह प्रधानाध्यापक से अपनी पुत्री को घर ले जाने और कुछ दिनों में फिर वापस ले आने की बात का आग्रह किया, जिस पर प्रधानाध्यापक ने स्वीकृति प्रदान की.

जब वह अपने पुत्री को लेकर घर पहुंचा तो घर पहुंचते ही उसकी पुत्री अपने मां से लिपट कर रोने लगी और अपनी आपबीती सुनाई. उन्होंने बताया कि उनकी 11 वर्षीय बेटी कक्षा दो की छात्रा है. पुत्री ने बताया है कि स्कूल के प्रधानाध्यापक ने गर्म पानी देने के बहाने उसे बुलाया और उसके शरीर के अंग पर अश्लील हरकत करने लगा.

जब उसने विरोध किया तो प्रधानाध्यापक ने माफी भी मांगी और कहा कि इसकी जानकारी किसी को नहीं देना है. इधर मामले में थानाध्यक्ष निर्मल कुमार यादवेन्दु ने केस दर्ज कर त्वरित कार्रवाई करते हुए घटनास्थल निजी विद्यालय छात्रावास पहुंचकर जांच की. जहां छात्रावास में आरोपित प्रधानाध्यापक नहीं मिले. लेकिन मौजूद शिक्षिका ने बताया कि प्रधानाध्यापक दो दिनों से सिलीगुड़ी अपने किसी रिश्तेदार का इलाज कराने गए हैं.

शिक्षिका ने प्रधानाध्यापक पर लगाए गए आरोप को झूठा एवं मनगढंत बताया. शिक्षिका ने कहा कि बेवजह बदनाम करने के लिए इस तरह की साजिश रचकर प्रधानाध्यापक को फंसाया जा रहा है. वहीं मामले में थानाध्यक्ष ने आवेदन पर केस कर कार्रवाई करने की बात कही है. थानाध्यक्ष ने कहा कि पुलिस अलग-अलग बदुओं पर जांच कर रही है.