उत्तर प्रदेश में बदलने जा रहा इन 12 जिलों का नाम, मुस्लिम नामों को हटा रहे Yogi Adityanath

Share It

DESK : उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने एक बार फिर शहरों और जिलों के नाम बदलने की तैयारी शुरू कर दी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, योगी सरकार उन जिलों और शहरों के नाम बदलने जा रही है जिन्हें मुगलों ने अपने ज़माने में रखा था. ये सभी मुस्लिम नाम वाले शहर और जिले हैं. फिलहाल 6 जिलों से इसकी शुरुआत की जाएगी. कहा जा रहा है कि सरकार ने 12 जिलों के नाम बदलने का फैसला किया है.

सूत्रों के अनुसार, 6 जिलों से नाम बदलने की शुरुआत की जानी है, उनमें अलीगढ़, फर्रुखाबाद, सुल्तानपुर, बदायूं, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर शामिल हैं. वहीं मैनपुरी, संभल, देवबंद, गाजीपुर, कानपूर और आगरा का नाम भी भविष्य में बदलने की चर्चा है.

आपको बता दें कि इससे पहले भी योगी आदित्यनाथ द्वारा कई शहरों और जिलों के नाम बदलने के फैसले लिए जा चुके हैं. गोरखपुर का सांसद रहने के दौरान उन्होंने वहां के कई इलाकों के नामों को बदलवा दिया था. इसमें उर्दू बाजार को हिंदी बाजार, हुमायूंपुर को हनुमान नगर, मीना बाजार को माया बाजार और अलीनगर को आर्य नगर कर दिया गया था.

इसके अलावा सीएम योगी के पिछले कार्यकाल में मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पं. दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर किया गया, तो इलाहाबाद प्रयागराज और फैजाबाद के नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया. सूत्रों के मुताबिक करीब 6 जिले ऐसे हैं, जिन पर अंदरखाने सहमति बन चुकी है और मुहर लग चुकी है. साथ ही, और ठोस ऐतिहासिक साक्ष्यों के साथ प्रपोजल आगामी विधानसभा सत्र में पेश करने की तैयारी है.

सूत्रों के अनुसार, अलीगढ़ का नाम हरिगढ़ या फिर आर्यगढ़ रखा जा सकता है. BJP और उनके समर्थक अलीगढ़ को हरिगढ़ कहना भी शुरू कर चुके हैं. फर्रुखाबाद का नाम बदलकर पांचाल नगर करने की मांग की गई है. सांसद मुकेश राजपूत ने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कहा है कि यह जिला द्रौपदी के पिता द्रुपद पांचाल राज्य की राजधानी थी इसलिए इसका नाम पांचाल नगर रख देना चाहिए.

वहीं सुल्तानपुर का नाम बदलकर ‘कुशभवनपुर’ करने का प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है. यहां की लंभुआ सीट से BJP के विधायक रहे देवमणि द्विवेदी ने सरकार से मांग की है कि सुल्तानपुर को किसी मुगल शासन के सुल्तान ने नहीं बल्कि श्रीराम के बेटे कुश ने बसाया था इसलिए इसका नाम बदलकर कुशभवनपुर कर देना चाहिए.

शाहजहांपुर का नाम महाराणा प्रताप के करीबी भामाशाह और एक और नाम शाजी के नाम पर ‘शाजीपुर’ रखने का सुझाव सरकार को दिया गया है. यहां से विधायक रहे मानवेंद्र सिंह ने सरकार के पास प्रस्ताव भी भेज दिया है.

बदायूं जिले की तरफ से अभी कोई प्रस्ताव नहीं आया है, लेकिन योगी की लिस्ट में इस जिले का नाम है. उन्होंने 9 नवंबर 2021 के दिन बदायूं के एक कार्यक्रम में इसका इशारा भी किया था. उन्होंने कहा था, बदायूं वेदों के अध्ययन का केंद्र था, इस वजह से प्राचीन समय में इसका नाम वेद मऊ था. वहीं फिरोजाबाद जिले का नया नाम चंद्र नगर रखने का प्रस्ताव सरकार के पास जा चुका है.