Mango Man : इन आमों की पहचान फ्रंटलाइन वर्कर्स के नाम

Share It

कोरोना वायरस महामारी (Covid 19) ने सभी को अपने चपेट में ले लिया है। इसके चलते सारी दुनिया की स्थिति बदल सी गयी है। इस महामारी के कारण हमारे बीच मसीहा बने कई फ्रंटलाइन वर्कर्स ने अपनी जान गंवाई है। उनके इस महान काम को सम्मान देने के लिए लखनऊ के मलिहाबाद में Haji Kalimullah Khan ने आम की नई किस्में पेश की हैं। दरअसल उन्होंने डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों सहित कई फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं के नाम पर आम की नई किस्में पेश की हैं, जिन्होंने वायरस से अपनी जान गंवा दी थी।

उन्होंने कहा “मुझे पता चला कि COVID के कारण इतने डॉक्टरों की मृत्यु हो गई और मैंने सोचा कि उन्हें जीवित रहना चाहिए, इसलिए मैंने उनके नाम पर कई तरह के आमों का नाम रखने का फैसला किया। इसी तरह, कई पुलिसकर्मी भी राष्ट्रीय ड्यूटी के दौरान संक्रमण से मर गए, इसलिए मैंने उनके नाम पर भी एक किस्म का नाम रखा। ये किस्में लोगों को याद दिलाएंगी कि उन्होंने कई अन्य लोगों की जान बचाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। उनके नाम पर रखी गई किस्में उन्हें हमेशा जीवित रखेंगी।”

Haji Kalimullah Khan, जिन्हें ‘Mango Man’ के नाम से जाना जाता है, एक भारतीय बागवानी विशेषज्ञ और फ्रूट ब्रीडर हैं, जो आम और अन्य फलों के ब्रीडिंग में अपनी उपलब्धियों के लिए जाने जाते हैं। उन्हें ग्राफ्टिंग तकनीकों का उपयोग करके एक ही पेड़ पर 300 से अधिक विभिन्न किस्मों के आम उगाने के लिए जाना जाता है। वह 1987 से इस आम की खेती के व्यवसाय में हैं।

ग्राफ्टिंग की एसेक्सुअल प्रोपगेशन तकनीक का उपयोग करते हुए, उन्होंने आम की कई नई किस्में विकसित की हैं, जिनमें से कुछ का नाम अखिलेश यादव, सचिन तेंदुलकर, सोनिया गांधी और ऐश्वर्या राय जैसी हस्तियों के नाम पर रखा गया है। भारत सरकार ने उन्हें बागवानी में उनके योगदान के लिए 2008 में चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया।