Madhya Pradesh के इस जिले ने किया रिकॉर्ड टीकाकरण, बना नंबर 1

Share It

इंदौर ने बीते सोमवार 21 जून को देश में फिर एक नया इतिहास रचा है। मध्य प्रदेश का इंदौर जिला एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला देश का पहला जिला बन गया है। योग दिवस के मौके पर इंदौर में बीते दिन टीकाकरण महा-अभियान के तहत एक दिन में दो लाख 12 हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया।


इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को अर्जित करने पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सभी डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ, शासकीय विभागों के अधिकारी और कर्मचारियों, नगर निगम और जिला पंचायत के अमले आदि का आभार व्यक्त किया। इसके साथ ही बीते दिन अकेले मध्य प्रदेश में 15 लाख से भी अधिक नागरिकों को कोरोना का टीका लगाया गया।

इंदौर जिले के प्रभारी तथा जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट (Tulsiram Silawat) ने शहर की जागरूक जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुये कहा कि सबके सक्रिय सहयोग से ही यह गौरवपूर्ण उपलब्धि हासिल हुई है। कोरोना को हराने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी (Narendra Modi) के संकल्प को पूरा करने के लिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व एवं निर्देशन में यह उपलब्धि हासिल की गई है, जो कोरोना को हराने में कारगर होगी। उन्होंने कहा कि अब हमारा अगला लक्ष्य इंदौर जिले को शत-प्रतिशत टीकाकृत करने का है।

मध्य प्रदेश बना नंबर-1 राज्य, कर्नाटक-यूपी में भी रिकॉर्ड टीकाकरण

मध्यप्रदेश में बीते दिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सोमवार 21 जून को सुबह 10 बजे सात हजार केन्द्रों पर कोरोना टीकाकरण महा-अभियान की शुरुआत हुई। इस महा-अभियान के तहत पहले दिन प्रदेश में रात 8 बजे तक 15 लाख 43 हजार से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया।

यह देश में अब तक का एक दिन में लगाये गये टीकों का रिकॉर्ड है। मध्य प्रदेश के अलावा कर्नाटक में 10 लाख, 67 हजार से अधिक नागरिकों को टीका लगाया गया। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में 6 लाख से अधिक, गुजरात में 5 लाख से अधिक, बिहार-राजस्थान में 4 लाख से अधिक नागरिकों को कोरोना का टीका लगाया गया।

इंदौर (Indore) के कलेक्टर मनीष सिंह ने इस अभियान को सफल बनाने के लिये तैयार की गई रणनीति की जानकारी देते हुए बताया कि सूक्ष्म कार्ययोजना बनाकर उसका मैदानी स्तर पर प्रभावी क्रियान्वयन किया गया। न्यूनतम समय में अधिकतम टीकाकरण हो, इसके लिये प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र पर दो-दो ऑपरेटर तैनात किये गये। टीका लगाने वाले हर स्टाफ को विशेष प्रशिक्षण दिया गया। समाज के हर वर्ग के साथ संवाद किया और कार्यक्रम में सहयोग देने और उसे सफल बनाने का आग्रह किया।

जिले में टीकाकरण अभियान की विभिन्न व्यवस्थाएं लोकतंत्र के महोत्सव निर्वाचन की तर्ज पर की गई। टीकाकरण की सामग्री वितरण के लिये फोकल पाइंट बनाये गये। जिले में एक हजार से अधिक टीकाकरण केन्द्र बनाये गये। व्यवस्थाओं की निगरानी के लिये और टीकाकरण केन्द्रों पर आने वाली समस्याओं के निराकरण के लिये एआईसीटीएसएल ऑफिसर में सर्वसुविधायुक्त कंट्रोल रूम स्थापित किया गया।

जानकारी के लिए बता दें कि कल यानी 21 जून को देशभर में 80 लाख से भी अधिक नागरिकों को कोरोना का टीका लगाया गया। टीकाकरण का यह कार्यक्रम केंद्र की कुशल नीतियों और राज्यों के बेहतर प्रबंधन के चलते संभव हो सका।

पीएम मोदी ने की सराहना

पीएम मोदी ने बीते दिन हुए रिकार्ड टीकाकरण पर प्रसन्नता व्यक्त की है और कड़ी मेहनत के लिए अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं की प्रशंसा की है।

अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि 21 जून के टीकाकरण की रिकॉर्ड तोड़ संख्या खुशी देने वाली है। कोविड-19 से लड़ने के लिए टीका हमारा सबसे मजबूत हथियार बना हुआ है। उन्होंने उन लोगों को जिन्होंने टीका लगवाया उन सभी को बधाई दी और इतने सारे नागरिकों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे अग्रिम पंक्ति के योद्धाओं की प्रशंसा की। साथ ही उन्होंने लिखा “शाबाश भारत!”