PM Modi : जो सात दशक में नहीं हुआ था, वह सात साल में हुआ

Share It

हाल ही में नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने प्रधानमंत्री के रूप में सात साल पुरे होने पे एक बार फिर अपने मन के बात की जिसमे उन्होंने कहा कि इन वर्षों में कई चुनौतियां भी आईं और भारत के लिए गौरव के कई क्षण आए। जो सात दशकों में नहीं हो पाया वह सात साल में हासिल हुआ और इसका बड़ा कारण यह था कि सरकार और जनता से भी आगे बढ़कर देश ने एक टीम के रूप में काम किया। प्रधानमंत्री ने बहुत संवेदनशीलता के साथ जहां कोरोना की लड़ाई में आगे खड़े योद्धाओं का मनोबल बढ़ाया, वहीं बहुत संक्षिप्त रूप में सात साल की उपलब्धियों का भी जिक्र किया।

आकाशवाणी पर अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’(Man Ki Bat) की 77वीं कड़ी में प्रधानमंत्री(PM Modi)ने कहा कि भारत जहां कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है वहीं हाल के दिनों में उसे विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं का भी सामना करना पड़ा है और भारत ने सामूहिक शक्ति से उसका भी डटकर मुकाबला किया।

PM Modi के मन की बात के कुछ मुख्य बिंदु

  • महामारी के दौरान देश ने चक्रवात, भूस्खलन व भूकंप समेत कई प्राकृतिक आपदाओं का सामना किया और अतीत की अपेक्षा कहीं ज्यादा जिंदगियों को बचाया गया।
  • आक्सीजन की मांग में अचानक वृद्धि हुई और यह बहुत बड़ी चुनौती थी। पूर्व में 900 मीट्रिक टन प्रतिदिन आक्सीजन उत्पादन के मुकाबले आक्सीजन उत्पादन 10 गुना बढ़कर 9,500 मीट्रिक टन हुआ।
  • ‘किसान रेल’ ने अब तक करीब दो लाख टन उपज की ढुलाई की है। किसान अब बहुत कम लागत पर फल, सब्जियां और खाद्यान्न देश के सुदूरवर्ती इलाकों में भेज सकते हैं।
  • शुरुआत में देश में कोरोना वायरस की सिर्फ एक टेस्टिंग लैब थी, लेकिन आज 2,500 से ज्यादा लैब संचालित हैं। आज प्रतिदिन 20 लाख से ज्यादा टेस्ट किए जा रहे हैं।
  • पूरी शांति और सद्भाव से कई पुराने विवादों का सुलझाया गया है और पूर्वोत्तर से कश्मीर तक शांति व विकास का नया विश्वास पैदा हुआ है।
  • डिजिटल लेन-देन में भारत ने दुनिया को नई दिशा दिखाने का काम किया है और सेटेलाइट लांच करने व सड़कों के निर्माण में नए रिकार्ड भी बना रहा है।
  • सात साल की उपलब्धियों में जनधन खाते खोलने, रोजगार परक योजनाओं, प्रधानमंत्री आवास योजना, जल जीवन मिशन, आयुष्मान योजना सहित कई अन्य योजनाओं का किया जिक्र।