International Eni Award 2020 : इस भारत रत्न प्राप्तकर्ता को मिलेगा एनर्जी रिसर्च में नोबेल पुरस्कार

Share It

भारत के जाने-माने प्रोफेसर और भारत रत्न प्राप्तकर्ता C.N.R. Rao को International Eni Award 2020 से नवाज़ा जायेगा। इसे Energy Frontier award भी कहा जाता है। उन्हें ये अवार्ड रिन्यूएबल एनर्जी सोर्सेज और एनर्जी स्टोरेज में रिसर्च के लिए मिलेगा। इस पुरस्कार को एनर्जी रिसर्च में नोबेल पुरस्कार माना जाता है।

यह एनर्जी फ्रंटियर्स पुरस्कार मेटल ऑक्साइड, कार्बन नैनोट्यूब और अन्य सामग्रियों और टू-डायमेंशनल सिस्टम्स पर उनके काम के लिए दिया जायेगा। इसमें ग्रेफीन, बोरॉन-नाइट्रोजन-कार्बन हाइब्रिड सामग्री, और मोलिब्डेनम सल्फाइड (Molybdenite – MoS2) ऊर्जा अनुप्रयोगों और ग्रीन हाइड्रोजन प्रोडक्शन के लिए शामिल हैं। प्रोफेसर राव ने तीनों क्षेत्रों में काम किया है और कुछ अत्यधिक नवीन सामग्री विकसित की है।

प्रोफेसर राव पूरी मानव जाति के लाभ के लिए एकमात्र एनर्जी सोर्स के रूप में हाइड्रोजन ऊर्जा पर काम कर रहे हैं। हाइड्रोजन का भंडारण, हाइड्रोजन का फोटोकैमिकल और इलेक्ट्रोकेमिकल उत्पादन, हाइड्रोजन का सौर उत्पादन और गैर-धातु कटैलिसीस उनके काम के मुख्य आकर्षण थे।

यह Eni Award रोम के Quirinal Palace में आयोजित एक आधिकारिक समारोह के दौरान 14 अक्टूबर 2021 को Professor Rao को प्रदान किया जाएगा। इसमें Italian Republic के राष्ट्रपति Sergio Mattarella भाग लेंगे। इसमें दिए जाने वाले चीज़ों में नकद पुरस्कार और विशेष रूप से ढाला गया स्वर्ण पदक शामिल है। इस पुरस्कार का उद्देश्य एनर्जी सोर्सेज के बेहतर उपयोग को बढ़ावा देना और शोधकर्ताओं की नई पीढ़ियों को उनके काम में प्रोत्साहित करना है।