PM Modi आज रचेंगे नया इतिहास, ऐसा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री बनेंगे

Share It

DELHI : देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज नया इतिहास रचने वाले हैं. गुरु तेग बहादुर की 400वीं जयंती (400th Birth Anniversary of Guru Tegh Bahadur) पर पीएम मोदी (PM Modi) सूर्यास्त के बाद लाल किले (Red Fort) पर भाषण देने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री होने वाले हैं. पीएम मोदी लाल किले से देश को संबोधित करेंगे. हालांकि मोदी लाल किले की प्राचीर से नहीं, बल्कि लॉन से राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

इस बारे में संस्कृति मंत्रालय (Ministry of Culture) के अधिकारियों ने बताया कि क्योंकि इसी किले से मुगल शासक औरंगजेब ने 1675 में सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर (Guru Tegh Bahadur) का शीश काटने का आदेश दिया था, यही कारण है कि लाल किले को गुरु तेग बहादुर की 400वीं जयंती के आयोजन स्थल के रूप में चुना गया. लाल किले की प्राचीर वह जगह है जहां से प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित करते हैं.

आपको बता दें कि पीएम मोदी आज रात 9.30 बजे भाषण देंगे. स्वतंत्रता दिवस के अलावा, यह दूसरी बार है जब पीएम इस ऐतिहासिक स्मारक से भाषण देंगे. 2018 में उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा आजाद हिंद सरकार के गठन की 75 वीं वर्षगांठ मनाई थी और लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था. इस मौके पर प्रधानमंत्री का संबोधन सुबह 9 बजे हुआ था.

आज के कार्यक्रम में 400 सिख संगीतकारों द्वारा परफॉर्मेंस दी जाएगी और लंगर भी होगा. अधिकारियों ने बताया कि मोदी इस अवसर पर एक स्मरणीय सिक्का और डाक टिकट भी जारी करेंगे. इसके लिए आयोजन स्थल पर दिल्ली पुलिस सहित विभिन्न एजेंसियों के करीब एक हजार जवानों को बहुस्तरीय सुरक्षा में तैनात किया गया है. करीब 100 सीसीटीवी कैमरे लाल किला परिसर में लगाए गए हैं.

अधिकारियों ने बताया कि एनएसजी निशानेबजों, स्वाट कमांडो, काइट हंटर, श्वान दस्तों और ऊंची इमारतों पर शार्प शूटरों का सुरक्षा घेरा बनाया गया है. राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का अनुपालन कराया जाएगा.