Monsoon Session : जानिए क्या होता है मानसून सत्र और इस साल मानसून सत्र में पेश किए जाने वाले विधेयकों के बारे में

Share It

संसद का मानसून सत्र आज यानी कि 19 जुलाई से आरम्भ हो चुका है। यह सत्र 13 अगस्त 2021 तक चलेगा। मानसून सत्र साल का दूसरा संसदिए सत्र होता है। एक साल में संसद के तीन सत्र आयोजित होते हैं। आइए इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं क्या होता है मानसून सत्र (Monsoon Session) और इस साल मानसून सत्र में पेश किए जाने वाले विधेयकों के बारे में।

क्या होता है मानसून सत्र?

मानसून सत्र संसद के दूसरे नंबर का सत्र है, जिसका आयोजन जुलाई माह में शुरू होता है और अगस्त में समापन। बता दें, संसद के सत्र के संबंध में संविधान (Constitution) के अनुच्छेद 85 (Article 85) में प्रावधान किया गया है। ऐसे में संसद के किसी भी सत्र को बुलाने की शक्ति केंद्र सरकार के पास होती है। इस विषय पर निर्णय संसदीय मामलों के कैबिनेट समिति द्वारा लिया जाता है, जिसे देश के राष्ट्रपति द्वारा औपचारिक रूप दिया जाता है। संसद सत्र का प्रारम्भ राष्ट्रपति के अभिभाषण से किया जाता है। बजट सत्र में जो विधेयक पारित नहीं हो पाता है, उसे मानसून सत्र में पारित करने का प्रयास किया जाता है ।

संसद के एक वर्ष में तीन सत्र होते हैं। बजट सत्र जनवरी के अंत में शुरू होता है और अप्रैल के अंत या मई के पहले सप्ताह तक समाप्त होता है। इस सत्र में एक अवकाश होता है, ताकि संसदीय समितियां बजटीय प्रस्तावों पर चर्चा कर सकें। तीसरा सत्र यानी कि शीतकालीन सत्र का आयोजन नवंबर से दिसंबर के मध्य में किया जाता है।

मानसून सत्र, 2021 के दौरान पेश किए जाने वाले विधेयकों की सूची

01.ट्रिब्यूनल रिफॉर्म्स (रेशनलाइजेशन एंड कंडीशंस ऑफ सर्विस) बिल, 2021 – अध्यादेश को बदलने के लिए

02.दिवाला और दिवालियापन संहिता (संशोधन) विधेयक, 2021- अध्यादेश को प्रतिस्थापित करने के लिए

03.राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग विधेयक, 2021 – अध्यादेश को बदलने के लिए

04.आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, 2021- अध्यादेश की जगह लेने के लिए

05.भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद (संशोधन) विधेयक, 2021- अध्यादेश की जगह लेने के लिए।

06.होम्योपैथी केंद्रीय परिषद (संशोधन) विधेयक, 2021- अध्यादेश की जगह लेने के लिए।

07.डीएनए प्रौद्योगिकी (उपयोग और अनुप्रयोग) विनियमन विधेयक, 2019।

08.फैक्टरिंग विनियमन (संशोधन) विधेयक, 2020

09.सहायक प्रजनन तकनीक (विनियमन) विधेयक, 2020।

10.अभिभावक और वरिष्ठ नागरिक देखरेख एवं कल्याण (संशोधन) विधेयक, 2019।

11.राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन संस्थान विधेयक, 2019, जैसाकि राज्य सभा द्वारा पारित किया गया।

12.नौवहन के लिए समुद्री सहायता विधेयक, 2021, जैसाकि लोकसभा द्वारा पारित किया गया।

13.किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) संशोधन विधेयक, 2021, जैसाकि लोकसभा द्वारा पारित किया गया।

14.सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019।

15.कोयला क्षेत्र (अधिग्रहण एवं विकास) संशोधन विधेयक, 2021।

16.चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, कॉस्ट और वर्क्स अकाउंटेंट्स तथा कंपनी सेक्रेटरीज (संशोधन) विधेयक, 2021

17.सीमित दायित्व भागीदारी (संशोधन) विधेयक, 2021

18.कैंटोनमेंट विधेयक, 2021

19.भारतीय अंटार्कटिका विधेयक, 2021

20.केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2021

21.भारतीय वन प्रबंधन संस्थान विधेयक, 2021

22.पेंशन कोष विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक, 2021

23.जमा बीमा और ऋण गारंटी निगम (संशोधन) विधेयक, 2021

24.भारतीय समुद्री मात्स्यिकी विधेयक, 2021

25.पेट्रोलियम और खनिज पाइपलाइन (संशोधन) विधेयक, 2021

26.अंतर्देशीय पोत विधेयक, 2021

27.विद्युत (संशोधन) विधेयक, 2021

28.मानव तस्करी (रोकथाम, संरक्षण और पुनर्वास) विधेयक, 2021

29.नारियल विकास बोर्ड (संशोधन) विधेयक, 2021

वित्तीय कार्य

1.2021-22 के लिए अनुदान की अनुपूरक मांगों पर प्रस्तुति, चर्चा और मतदान और संबंधित विनियोग विधेयक को पेश करना, विचार करना और पारित करना

2.2017-18 के लिए अनुदान की अधिक मांगों पर प्रस्तुति, चर्चा और मतदान और संबंधित विनियोग विधेयक को पे