Cyclone Tauktae : भारत पर तौकाते का साया, 175 KMPH है रफ्तार, तटीय क्षेत्र हाई अलर्ट पर, इन राज्यों में अफरा तफरी का माहौल

Share It

भारत अभी कोविड-19 की दूसरी लहर से लड़ रहा है। इसी बीच एक और प्राकृतिक आपदा दरवाज़े पर दस्तक दे रही है। भारत के कई राज्यों के ऊपर भीषण चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। इस साल भारतीय तट पर पहला अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान आ रहा है। तूफान को म्यांमा में ‘तौकाते’ (Cyclone Tauktae) नाम दिया गया है जिसका अर्थ ‘छिपकली’ होता है।

भारत के 5 राज्यों पर छाया है “तौकते”(Cyclone Tauktae) का साया

देश के 5 राज्यों पर तौकते तूफान का खतरा मंडरा रहा है। लक्षद्वीप(Lakshadweep), केरल(Keral), गुजरात(Gujrat), महाराष्ट्र(Maharashtra) और गोवा(Goa) के तटीय इलाकों में तूफान का खतरा है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक अरब सागर में बन रहा दबाव का क्षेत्र 17 मई को अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। चक्रवाती तूफान तौकते शनिवार को गुजरात तट को पार कर सकता है। गुजरात के कच्छ सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में साइक्लोन को लेकर कोस्ट गार्ड अलर्ट पर हैं।

प्रधानमंत्री कर रहे तूफान से निपटने के लिए बैठक

केरल और तमिलनाडु के तटीय इलाकों में अरब सागर में भारी बारिश और गरजीला तूफान देखा जा रहा है। मौसम विभाग ने एनडीआरएफ के 53 दलों को राहत व बचाव कार्य के लिए लगा दिया है। इस बीच पीएम मोदी चक्रवात से निपटने की तैयारियां का जायजा लेने के लिए बैठक करेंगे। इस बैठक में एनडीएमए के अधिकारियों समेत शीर्ष अधिकारी शामिल होंगे।

अरब सागर के तटीय इलाके हाई अलर्ट पर, उड़ाने हो सकती हैं बाधित

तमिलनाडु में मत्स्य विभाग ने अलर्ट जारी कर मछुआरों को अरब सागर के तूफान से सचेत रहने और समुद्र से निकल आने का संदेश दिया है। वहीं विस्तारा एयरलाइंस ने कहा है कि तूफान की वजह से चेन्नई(Chennai), तिरुवनंतपुरम, कोच्चि, बेंगलुरु, मुंबई, पुणे, गोवा और अहमदाबाद के लिए उड़ानें 17 मई तक प्रभावित रहने की संभावना है।

तौकाते हो सकता है भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील

मौसम स्थिति लक्षद्वीप के ऊपर गहरे दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो गई है। इसके कारण 15 मई के रात तक अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। आईएमडी के अनुसार, 16-19 मई के बीच पूरी संभावना है कि यह 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ एक ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में तब्दील होगा। हवाओं की रफ्तार बीच-बीच में 175 किलोमीटर प्रति घंटा भी होने की संभावना है।

पश्चिमी तटीय राज्यों में बारिश की स्थिति

भारत के पश्चिमी राज्यों में बारिश की स्थिति बनी हुई है। लक्षद्वीप, गुजरात, गोआ, मुम्बई जैसे इलाकों में 16-17 मई को मौसम विभाग द्वारा भारी बारिश की चेतावनी दी गयी है। इस आपदा की स्थिति को देखते हुए राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल, भारतीय नौसेना और अन्य एजेंसियों को अगले कुछ दिनों में ऐसी किसी भी घटना से निपटने के लिए हाई अलर्ट पर रखा गया है।