बिहारवासियों को दो नए Expressways की सौगात, जल्द शुरू होंगी 13 हजार करोड़ की सड़क परियोजनाएं

Share It

PATNA : इस साल बिहार (Bihar) के लोगों को दो एक्सप्रेसवे (Expressways) की सौगात मिलने वाली है. इस साल 13 हजार 260 करोड़ की नेशनल हाईवे (National Highway) और पुलों (Bridge) का निर्माण शुरू होगा। इसमें दानापुर-बिहटा एलिवेटेड रोड (Danapur Bihta Elevated Road) और पटना रिंग रोड (Patna Ring Road) के तहत गंगा नदी में प्रस्तावित शेरपुर-दिघवारा पुल (Sherpur Dighwara Bridge) का निर्माण भी शामिल है। साथ ही सहरसा-उमगांव (Saharsa Umgaaon) और मानिकपुर-साहेबगंज-अरेराज फोर लेन (Manikpur Sahebganj Areraj Four Lane) का काम भी इसी साल शुरू हो जाएगा। 30 जून तक टेंडर कर लिया जाएगा।

सूबे के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन और सड़क एवं राजमार्ग परिवहन मंत्रालय के सचिव गिरधर अरमाने के बीच बुधवार को दिल्ली में हुई विशेष बैठक में इस पर सहमति बनी। गुरुवार को पटना में पत्रकारों से बातचीत में मंत्री ने बताया कि राज्य की कई लंबित परियोजनाओं के शीघ्र क्रियान्वयन पर सहमति बनी है। कोईलवर-बिहटा चार लेन सड़क का निर्माण कार्य का टेंडर जल्द होगा।

वहीं अदलवारी-मानिकपुर पथ में गंडक नदी पर पुल निर्माण को मार्गरेखन का कार्य 30 अप्रैल तक पूरा कर लिया जाएगा। पीएम पैकज के तहत बचे हुए काम के अलावा भारतमाला परियोजना के तहत 373 किमी की सड़क परियोजनाओं की स्वीकृति जल्द मिलेगी।

पूर्वांचल एक्सप्रेस अब दक्षिण बिहार के साथ ही उत्तर बिहार को भी जोड़ेगा। मंत्री ने कहा कि बक्सर से भागलपुर तक बनने वाली पूर्वांचल एक्सप्रेस पटना होकर गुजरेगी। बैठक में बिहार की ओर से इस सड़क को हाजीपुर होकर ले जाने का अनुरोध किया गया, जिससे केंद्र ने मान लिया है। चूंकि भागलपुर होकर पटना-कोलकाता एक्सप्रेस-वे का निर्माण हो रहा है, इसलिए उत्तर बिहार को पूर्वांचल एक्सप्रेस से जोड़ने का प्रस्ताव दिया गया है।

अब इस सड़क की फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार की जाएगी और फिर डीपीआर बनेगी। केंद्र ने राज्य की विलंबित एनएच परियोजनाओं में तेजी लाने की बात कही है। मंत्री ने बताया कि पटना-गया-डोभी सड़क को नत्थूपुर से सरिस्ताबाद तक जोड़ा जाएगा, जबकि सरिस्ताबाद से एम्स तक राज्य सरकार सड़क निर्माण कराएगी।

गोरखपुर-सिल्लीगुड़ी एक्सप्रेस-वे और आमस-दरभंगा एक्सप्रेस-वे से राज्य के महत्वपूर्ण शहरों का जुड़ाव होगा। उत्तर बिहार से होकर गुजरने वाली गोरखपुर-सिल्लीगुड़ी एक्सप्रेस-वे से मुजफ्फरपुर सहित अन्य प्रमुख शहरों व पर्यटक स्थलों को जोड़ा जाएगा। इसके लिए एक्सप्रेस-वे के समानांतर सड़क बनेगी। इसी तरह आमस-दरभंगा एक्सप्रेस-वे को बोधगया व राजगीर से जोड़ा जाएगा। वहीं, सुल्तानगंज-देवघर कांवरिया पथ के चार लेन चौड़ीकरण का काम भी होगा।

कच्ची दरगाह में सड़कों का जंक्शन यानी मल्टीलेयर ट्रम्पेट का निर्माण होगा। चूंकि कच्ची दरगाह-बिदुपुर पुल के समीप आमस-दरभंगा एक्सप्रेस-वे, पटना रिंग रोड और पटना-कोलकाता एक्सप्रेस-वे का जुड़ाव होगा, इसलिए यहां जंक्शन बनाने की तैयारी है। आईआईटी दिल्ली के तकनीकी विशेषज्ञों से स्थल अध्ययन एनएचएआई की ओर से कराया जाएगा। एनएच पर अवस्थित 65 ब्लैक स्पॉट/ ग्रे स्पॉट का सुधार दो महीने में कर लिया जाएगा।