Bihar: आंधी-पानी में चार लोगों की मौत, ठनका गिरने से दो की गई जान, फसलों को भी भारी नुकसान

Share It

PATNA : बिहार (Bihar) में मौसम का मिजाज बदलने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है. लेकिन ख़राब मौसम का असर भी काफी देखने को मिला है. बिहार के अलग-अलग जिलों में हुई आंधी और तेज बारिश में चार लोगों की मौत हो गई. आरा, सहरसा और मधेपुरा जिले में चार लोगों की जान गई. दो लोगों की मौत ठनका गिरने के कारण हो गई.

पहली घटना, भोजपुर के तरारी थाना क्षेत्र की है. यहां इटिम्हां गांव में आंधी के कारण ताड़ का एक पेड़ मिट्टीनुमा घर पर गिर पड़ा. इससे घर में सो रहे तीन लोग दब गये, जिसमें एक की मौत हो गई. नाना और नाती समेत दो लोग घायल हो गये. इनमें एक की स्थिति गंभीर है, जिसे पटना रेफर कर दिया गया है. मृतक की पहचान अगिआंव बाजार के रहने वाले 47 वर्षीय सोमारू पासवान के रूप में की गई है.

उधर, कोसी, सीमांचल और पूर्वी बिहार के जिलों में आंधी बारिश से एक ओर जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली, वहीं फसलों को भारी क्षति पहुंची. आंधी में पेड़ और बिजली खंभे गिरने और तार टूटने से बिजली आपूर्ति भी प्रभावित हुई. सहरसा में आंधी में घर गिरने से एक व्यक्ति की दबकर मौत हो गई जबकि मधेपुरा में ठनका से दंपती की मौत हो गई.

सुपौल और सहरसा जिले में भी आंधी-पानी ने जमकर तबाही मचाई. आंधी में कई घरों के छप्पर समेत फूस के सैकड़ों घर उड़ गये. वहीं कहरा प्रखंड की दिवारी पंचायत के धकजरी में घर गिरने से उसमें दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई. आंधी पानी मक्का सहित आम और अन्य फसलों को काफी नुकसान हुआ. जबकि मधेपुरा के ग्वालपाड़ा प्रखंड में ठनका की चपेट में आने से पति- पत्नी की मौत हो गई.