बड़हिया स्टेशन पर ‘रेड सिग्नल’, प्रदर्शन के कारण 38 ट्रेनें रद्द, Patna Junction से झाझा के लिए 3 बजे तक नहीं खुलेगी कोई गाड़ी

Share It

PATNA : बिहार के बड़हिया रेलवे स्टेशन (Barhiya Railway Station) पर ट्रेनों के ठहराव को लेकर जबरदस्त प्रदर्शन किया जा रहा है. पिछले साल जुलाई 2021 में रेलवे की ओर से दिये गए आश्वासन के बावजूद एक दर्जन ट्रेनों का ठहराव नहीं होने के कारण रेल संघर्ष समिति के सदस्य नाराज हैं. प्रदर्शन के कारण रेलवे ने लगभग तीन दर्जन ट्रेनों को रद्द कर दिया है. जबकि 40 से ज्यादा ट्रेनों के रूट को बदल दिया गया है.

कल रात तक रेलवे की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, 40 ट्रेनों के रूट डायवर्ट किये गए थे. साथ ही 12 मेल एक्सप्रेस और 11 मेमू (पैसेंजर ट्रेन) समेत कुल 23 ट्रेनें रद्द कर दी गई थीं. आज सुबह रेलवे के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी बीरेंद्र कुमार ने जानकारी दी कि 15 ट्रेनों को आज भी रद्द कर दिया गया है. जबकि लगभग आधा दर्जन ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है.

Railway: हटिया पाटलिपुत्र एक्सप्रेस को रोक कर प्रदर्शन करते रेल संघर्ष समिति के सदस्य.
Barhiya Railway Station

ईस्ट सेंट्रल रेलवे के डाउन लाइन में पूरी तरह परिचालन थम गया है. दानापुर रेल मंडल के कई स्टेशनों पर घोषणा (अनाउंसमेंट) कर बताया जा रहा है कि दोपहर तीन बजे तक पश्चिम यानी कि डाउन लाइन पर परिचालन बाधित रहेगा. गुलजारबाग स्टेशन पर अनाउंसमेंट कर बताया गया कि दोपहर तीन बजे तक झाझा, मोकामा, जसीडीह समेत कई स्टेशनों के लिए कोई भी गाड़ी नहीं है. पटना स्टेशन (Patna Junction) दोपहर तीन बजे तक गाड़ियों का परिचालन शुरू हो सकता है.

आपको बता दें कि रविवार सुबह 10 बजे सैकड़ों लोग बड़हिया स्टेशन पर पहुंचे और स्टेशन के पैनल रूम को कब्जे में लेने की कोशिश की. विफल रहने पर रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठ गये. इस कारण किऊल स्टेशन से लेकर मेन लाइन होकर पटना तक रेल परिचालन ठप हो गया. यानी पटना से झाझा रेलखंड पर परिचालन पूरी तरह ठप हो गया.

लखीसराय: बड़हिया स्टेशन पहुंचे सैकड़ों लोग, रेल परिचालन किया ठप; 40 ट्रेनें डायवर्ट और 23 रद्द, ये है आंदोलनकारियों की मांग

आंदोलनकारियों के आह्वान पर बड़हिया बाजार भी आज बंद है. बड़हिया रेल संघर्ष समिति के आंदोलन को लेकर प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है. जगह-जगह पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है. आंदोलनकारियों की मांग है कि कोरोना काल से पहले बड़हिया रेलवे स्टेशन पर ठहराव वाली ट्रेनों का ठहराव पुनः शुरू किया जाये. मालूम हो कि बड़हिया रेलवे स्टेशन पर पूर्व के ठहराव वाली कई ट्रेनों का अभी तक ठहराव शुरू नहीं किया गया है. इससे पहले भी समिति ने आंदोलन किया था.

Railway: रेलवे ट्रैक पर दरी बिछा कर बैठ गये आंदोलनकारी.
Barhiya Railway Station

गौरतलब है कि लखीसराय जिले के बड़हिया रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के ठहराव को लेकर 25 जुलाई को सैकड़ों ग्रामीणों ने आठ घंटों तक रेल परिचालन को बाधित कर दिया था. इसके बाद एडीआरएम विभूति भूषण गुप्ता ने पांच ट्रेनों टाटा-दानापुर एक्सप्रेस, पटना-धनबाद एक्सप्रेस, भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी, गोरखपुर मौर्या एक्सप्रेस, हावड़ा-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस का ठहराव एक सप्ताह के अंदर कर दिया था.